electromagnetic bomb
0
0
Spread the love
30 Views

ईरान से तनाव के बीच इजरायल का इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम चर्चा में है। इस तरह के बम का इस्तेमाल दुश्मन के इलेक्ट्रानिक उपकरणों को ध्वस्त करने, इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड को फेल करने के लिए किया जाता है। अभी तक इस खास बम का दुनिया में सिर्फ एक बार इराक में इस्तेमाल हुआ है।


तेल अवीव: सीरिया में ईरानी वाणिज्य दूतावास पर इजरायली हवाई हमले के बाद से इलाके में तनाव चरम पर है। ईरान ने धमकी दी है कि उसे जवाबी कार्रवाई करने का पूरा अधिकार है। इजरायली खुफिया एजेंसियों ने बताया है कि ईरान लंबी दूरी की मिसाइलें और ड्रोन के जरिए इजरायल को निशाना बना सकता है। इस डर से इजरायल के कई महत्वपूर्ण इलाकों में जीपीए सर्विस को ब्लॉक कर दिया है। इस बीच ब्रिटिश मीडिया ने ईरान को खास तौर पर डिजाइन किए गए इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम की ताकत बताकर धमकी दी है। द संडे टाइम्स ने रविवार को बताया कि इजरायल सैन्य संघर्ष की स्थिति में विशेष रूप से डिजाइन किए गए इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम से ईरान के इलेक्ट्रिक नेटवर्क को नष्ट कर सकता है।

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम से ईरान को कितना खतरा

लंदन से छपने वाले अखबार द संडे टाइम्स में एक अमेरिकी विशेषज्ञ के हवाले से कहा गया है कि इस प्रकार के एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम को जमीन के ऊपर विस्फोटित करने से एक इलेक्ट्रो मैग्नेटिक पल्स पैदा होगी, जो जमीन पर काम करने वाले सभी तकनीकी उपकरणों को बाधित कर देगी। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि तेहरान की परमाणु सुविधाओं पर संभावित हमले के संबंध में इजरायल द्वारा नई तकनीक के उपयोग को चर्चा में लाया गया था। ब्रिटिश अखबार ने कहा कि इस तरह का कदम ईरान को “पाषाण युग में वापस भेज देगा।” रिपोर्ट में बताया गया है कि इस तरह का बम गामा किरणों को फैलाता है। इससे यह आसपाक से इलेक्ट्रिक उपकरणों को जलाकर खाक कर देता है।

क्या होता है इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम को ई-बम के नाम से भी जाना जाता है। एक ऐसा हथियार है जो ऊर्जा की एक पल्स बनाने के लिए एक तीव्र विद्युत चुम्बकीय क्षेत्र का उपयोग करता है। यह बम नुष्यों या इमारतों को नुकसान पहुंचाए बिना इलेक्ट्रॉनिक सर्किटरी को प्रभावित करता है। यह पल्स अस्थायी रूप से इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम को अक्षम कर देता है। इसके अलावा कंप्यूटर और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक सिस्टमों को ठप कर देता है। यह बम बहुत उच्च स्तर की इलेक्ट्रॉनिक सर्किटरी को पूरी तरह से नष्ट कर देता है। इस प्रकार इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम कंप्यूटर, रेडियो और वाहनों में इग्निशन सिस्टम सहित बिजली का उपयोग करने वाली किसी भी प्रकार की मशीन को अक्षम कर देता है।

इंसानों के लिए घातक नहीं है इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बम इंसानों के लिए घातक नहीं होता है। यह बम बिजली पर निर्भर किसी भी उपकरण को तबाह कर देगा। सीबीएस न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका ने इराकी सैटेलाइट टेलीविजन को नष्ट करने और प्रसारण को बाधित करने के लिए 24 मार्च 2003 को एक प्रायोगिक ई-बम तैनात किया था। अमेरिका में, अधिकांश ई-बम अनुसंधान न्यू मैक्सिको में किर्टलैंड वायु सेना बेस में वायु सेना अनुसंधान प्रयोगशाला में किया गया है, जहां शोधकर्ता उच्च शक्ति माइक्रोवेव (एचपीएम) के उपयोग की खोज कर रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Free web hosting
try it

hosting

No, thank you. I do not want.
100% secure your website.